Saturday, May 12, 2012

vsk chennai sandesh (Hindi)


सेतु
समाचार भी, संस्कार भी
चेन्नई, मई ११, २०१२
हिन्दू मंदिर के सम्प्पथी क्या धर्म निरपेक्षथा खा जाएगी? 
तमिलनाडु राज्य में ३५००० हिन्दू मंदिर और मठ राज्य सर्कार के हिन्दू रेलिगिऔस एंड चरिताब्ले एन्दोव्मेंट्स (हेच आर & सी ई) के अधीन हैं.  इन मंदिरों की ५,००,००० एककर भूमि से खेती आया नहीं की बराबर हैं. ऐसे  में तमिलनाडु हौसिंग बोर्ड मंदिर भूमि में से मखान बनाने की प्रयास शुरू कर दी हैं. लेखिन एक  सार्वजनिक हित मुकदमा में फैसला सुनाते हुए चेन्नई उच्चा न्यायालय ने कहा की मंदिर निर्वहन में अनियमितताएन दिकाई देते हैं.  इस बीच राज्य विधान सभा में  हेच आर & सी ई मंत्री ने एक चिंता जनक विषय कहे कि एक डाटा बेस जिस में राज्य के ४.७८ लाक एकड़ मंदिर भूमि के विविवरण होगा, निर्माण कि जा रही हैं. 


मदुरै में अडवाणी, कहते हैं चुनावी तैयारी हो जाई
हाल ही में मई १० को भा.जा.प् के राज्यस्थारिया अद्वेशन को सम्बोजित करते हुए श्री एल.के.अडवानी ने कहा कि चुनावी संघर्ष सैनिक संघर्ष के सामान हैं. युद्ध में जीत पाने के लिए सेना को चार बात नितांत ज़रूरी हैं. ये हैं, १. नेता, २.
कमांडरों ३. दिशा बोध ४. सामरिक व्यूह. उसी तरह चुनाव जीत ने केलिए राजनीतिक पक्ष भी इन चार बातो पर ध्यान देना ज़रूरी हैं. अधिवेशन में पारित हुए प्रस्थावो में से ये दो हिन्दुहित में हैं; १. राम सेतु को राष्ट्रीय स्मृति घोषित करना २. गो वध निषेद क़ानून को लागू करना. 


क्या जेरुसलेम सब्सिडी हज सब्सिडी कि राह जाएगी?
कई वेबसाइट में हज सब्सिडी को समाप्त करने कि सर्वोच्च न्यायलय क़ी
निर्णय के ऊपर टिप्पणिया देखने को मिली. कई टिप्पणिया इस प्रकार हैं क़ि अबी अबी राज्य मुक्य मंत्री जयलालिथा द्वारा घोषित की गयी 'जेरुसलेम यात्रा सब्सिडी योजना को भी हज सब्सिडी की तरह तुरंत समाप्त करना चागिये, क्योकि वहा योजना इसाई मत्धता को सिर्फ प्रलोभन हैं. 

No comments:

Post a Comment