Thursday, July 20, 2017

Cow protection for decades in Bharat, Dr.Manmohan Vaidya at Jammu




Addressing the press conference at Jammu on the on-going Akhil Bharatiya Prant Pracharak Meeting Dr. Manmohan Vaidya said that this kind of meeting is being conducted every year and State organisers, Zonal Organisers and Akhil Bharatiya Karyakarini Sadasya (Office bearers) participate and this time, this meeting has been held in Jammu. In this meet, discussions were on Sangh Shiksha Varga and the expansion of Sangh work.
This year, 87 Sangh Shiksha Varg took place wherein 23223 participated. 15816 shikshartis below 40 years of age participated and 3000 shikshartis above 40 years. 3796 shikshartis in the second year camp and 899 in the third year camp participated across the country. At present, there are 51688 daily shakas in the country while 13432 weekly milans. There are 2965 Pracharaks, Vistaraks across the country. Number of persons joining RSS is increasing – as in the last three years – 31800 in 2015, 47209 in 2016 and 71872 in the last six months.

Isha Foundation, Satguru Shri Jaggi Vasudev, has taken a “Rally for Rivers” campaign to relate water, in which the Sangh volunteers will cooperate across the nation in this campaign to plant trees along the river.

In the area of village development, work has been started for 1100 villages and 318 villages have received good results. Under the guidance of scientists, more than 1000 gaushala and indigenous cows are being researched on the cow product. This topic was also discussed in this meeting.

In response to the question of journalists on Jammu-Kashmir issue, he said that terrorism and separatism should be tackled strictly. There should be no compromise in it. In response to the violence during cow protection, he said that cow protection has been going on for years in India. The Sangh does not support any kind of violence and those who commit violence should act under the law. For this, one should not try to defame the Sangh. In Jammu and Kashmir, the question of whether the minority is minor and should be given the status of minorities, he said that this is a matter of discussion and should be discussed. Regarding the infiltration of Rohingya-Bangla in Jammu, he said that from the very beginning of the RSS, it is a matter of security for the country and every illegeal intruder should be identified and efforts should be made of security for the country and every illegal intruder should be identified and efforts should be made to get back the matter with their respective countries. The identity of this country belongs to Hindutva and there is a tradition of wishing everyone’s happiness. In this press conference, Jammu Prant Sanghachalak K Suchet Singh was also present. 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख
डा. मनमोहन वैद्य की पत्रकारो से बातचीत का सार -


राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख डा. मनमोहन वैद्य ने वीरवार को यहां पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए पिछले तीन दिनों से चल रही अखिल भारतीय प्रांत प्रचारक बैठक के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इस तरह की बैठक प्रत्येक वर्ष होती है। जिसमें संघ के प्रांत प्रचारक, सह प्रांत प्रचारक, क्षेत्रीय प्रचारक व अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य भाग लेते है और इस बार यह बैठक जम्मू में हुई है। इस बैठक में जून माह में देश भर में लगे संघ शिक्षा वर्गों व संघ कार्य के विस्तार को लेकर चर्चा होती है। इस साल 87 संघ शिक्षा वर्ग लगे, जिसमे 23223 शिक्षार्थियों ने भाग लिया। 40 साल से कम आयु वाले प्रथम बर्ष शिक्षार्थियों की संख्या 15816 थी एवम 40 साल से ऊपर की आयु के प्रथम वर्ष के शिक्षार्थियों की संख्या 3000 रही। द्वितीय  वर्ष के शिक्षार्थियों की संख्या 3796 तथा तृतीय वर्ष में यह संख्या  899 रही । इस समय देश में 51688 दैनिक शाखाएं चल रही हैं जबकि 13432 साप्ताहिक मिलन चल रहे हैं। देश भर में प्रचारक-विस्तारकों की संख्या 2965 है। पिछले तीन वर्षों में ज्वाइन आर.एस.एस. के माध्यम से 2015 में 31800, 2016 में 47209 और पिछले छः माह में 71872 लोगों ने संघ ज्वाइन करने के लिए आवेदन किया है।
            ईशा फाउन्डेशन के स्वामी सतगुरू श्री जग्गी वासुदेव जी ने जल के संबर्धन के लिए एक Rally for Rivers” अभियान लिया है , जिसमें नदी के किनारे वृक्षारोपण करने के इस अभियान में संघ के स्वयंसेवक देश भर में उनका सहयोग करेगें।
            ग्राम विकास के क्षेत्र में 1100 गांव में विकास का कार्य शुरू किया गया है तथा 318 गांव में अच्छे परिणाम प्राप्त हुए हैं। वैज्ञानिकों के मार्गदर्शन में 1000 से अधिक गौशालाऔं में देसी गायों के उत्पाद पर अनुसंधान हो रहा है। इस विषय पर भी इस बैठक में चर्चा हुई।
            जम्मू कश्मीर के विषय पर पत्रकारो के प्रश्न के उत्तर में उन्होने कहा कि आतंकवाद व अलगाववाद को सख्ती से निपटना चाहिए इसमें किसी प्रकार का कोई समझौता नहीं होना चाहिए।
            गौ रक्षा के दौरान होने वाली हिंसा के जबाव में उन्होंने कहा कि गौ रक्षा का कार्य भारत में वर्षो से चल रहा हैसंघ किसी प्रकार की हिंसा का समर्थन नहीं करता है और हिंसा करने वालों पर कानून के तहत कार्यवाही होनी चाहिए। इसके लिए संघ को बदनाम करने की कोशिश नहीं होनी चाहिए। जम्मू-कश्मीर में हिन्दु अल्पसंख्यक है और उन्हें अल्पसंख्यकों का दर्जा मिलना चाहिए के प्रश्न के उतर में उन्होंने कहा कि यह चर्चा का विषय है और इस पर चर्चा होनी चाहिए। जम्मू में रोहिङ्ग्यो ब बांग्लादेशियों की घुसपैठ को लेकर उन्होंने कहा कि संघ का शुरू से मानना है कि यह देश की सुरक्षा का मामला है और हर अवैध घुसपैठिए की पहचान होनी चाहिए और उनकी संबंधित देशों से बात कर वापिसी करवाने के प्रयास होने चाहिए। इस देश की पहचान हिन्दुत्व की है और यहां सभी के सुख की कामना की परंपरा रही है।  
इस पत्रकार वार्ता में जम्मू कश्मीर के प्रांत संघचालक ब्रिग. सुचेत सिंह भी उपस्थित रहे ।



2 comments:

  1. The cow must be declared as the national animal and cow slaughter banned in India at the earliest

    ReplyDelete


  2. Its a wonderful post and very helpful, thanks for all this information. You are including better information regarding this topic in an effective way.Thank you so much

    Personal Installment Loans
    Payday Cash Advance loan
    Title Car loan
    Cash Advance Loan

    ReplyDelete