Saturday, January 11, 2014

Bhagwat issued no warning to BJP: RSS

Delhi, January 10: “The news report on Rashtriya Swayamsevak Sangh (RSS) Sarsanghchalak Dr Mohan Bhagwat’s alleged statement about Aam Adami Party (AAP) and its potential threat to the BJP, was totally fictitious, baseless and unfounded. It seems to be a speculative and table news report circulated to create confusion amongst the people”, said Dr Manmohan Vaidya, Akhil Bharatiya Prachar Pramukh of RSS.

In an telephonic interview today morning from Hyderabad Dr Vaidya categorically denied that the RSS Chief had ever issued any statement as attributed to him by the media. Dr Bhagwat did not speak to any media person on this issue, the RSS Prachar Pramukh clarified.

It may be noted that the media was reporting on Dr Bhagwat’s statement in which he allegedly made some remarks about the AAP and suggested the BJP to remain cautious about its potential threat.

 Several media channels today carried a report that RSS chief Mohan Bhagwat warned the Bhartiya Janata Party to take the Aam Aadmi Party as a serious political opponent in the Lok Sabha elections. "The BJP must take the AAP challenge seriously," IBN Live quoted Bhagwat as saying during a meeting attended in Hyderabad. “This seems to be the handiwork of some media persons who are expert in making and circulating table news”, Dr Vaidya clipped.

However, he said that Dr Bhagwat was attending a routine review meeting of RSS functionaries and representatives of its various mass organizations at Hyderabad. This meeting was attended by top RSS functionaries besides office-bearers from ABVP, Vanvasi Kalyan Ashram, Vishwa Hindu Parishad (VHP), BMS, Bhartiya Kisan Sangh (BKS), etc.

BJP president Rajnath Singh and his predecessor Nitin Gadkari besides Organising Secretary Ram Lal also participated in the meeting for a day only, Dr Vaidya said.

Such meetings are regularly held twice a year in September and January, Dr Vaidya said adding that the occasion is used to exchange observations and notes by the members who travel all around the country, mix and interact with cross sections of the society and participate in various other programs. “This is our routine meeting and no official statement or resolution is passed in these meetings”, the RSS functionary clarified.

The Sarsanghchalak did not issue any official statement nor did he issue any warning to the BJP regarding the emergence and potential challenge of the AAP, Dr Vaidya said and added that to attribute such a statement to him was totally wrong.

Meanwhile, senior RSS functionary Ram Madhav had said that the RSS Chief issued no such warning to the BJP.

 Vishwa Samvad Kendra
 Delhi


डॉ.भागवत ने नहीं दी भाजपा को राजनीतिक नसीहत : संघ
दिल्ली, जनवरी 10 : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत ने भाजपा को आम आदमी पार्टी (आप) को हल्के में न लेने की और उनसे कुछ सीखने की हिदायत दी है, यह समाचार काल्पनिक, झूठ और सर्वथा आधारहीन है। ऐसा प्रतीत होता है कि जनता को संभ्रमित करने की मंशा से ऐसी मनगढत और टेबल न्यूज़ बनाई गई है”, संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख डॉ. मनमोहन वैद्य ने इस बात की जानकारी दी।     
डॉ. वैद्य ने आज सुबह फ़ोन पर यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि संघ प्रमुख ने आम आदमी पार्टी को लेकर कोई भी बयान नहीं दिया, न ही उन्होंने किसी मीडिया प्रभारी से इस सम्बन्ध में कोई बात कही। संघ प्रचार प्रमुख ने स्पष्ट करते हुए कहा कि मीडिया ने इस प्रकार की भ्रामक बातें फैलाई है।
डॉ. वैद्य के अनुसार, मीडिया में ऐसी खबर आई कि संघ प्रमुख ने भाजपा से आम आदमी पार्टी को हल्के में न लेने की बात कहते हुए उनसे कुछ सीखने की नसीहत दी, और कहा कि अन्यथा आगामी लोकसभा चुनाव के नतीजे भाजपा के मुताबिक नहीं भी हो सकते। संघ प्रचार प्रमुख ने कहा, “यह कुछ हिंदी न्यूज़ चैनलों के टेबल न्यूज़ बनानेवाले एक्सपर्ट मीडिया कर्मी का काम है।
उल्लेखनीय है कि हैदराबाद में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की समन्वय बैठक चल रही है, जिसमें विविध सामाजिक क्षेत्रों में कार्यरत विभिन्न संगठन एवं संस्थाओं के प्रतिनिधि शामिल हुए हैं। इस बैठक में संघ और संघ प्रेरित संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP), वनवासी कल्याण आश्रम, विश्व हिन्दू परिषद, भारतीय मजदुर संघ, भारतीय किसान संघ आदि संगठनों के पदाधिकारी सहभागी हुए हैं। गौरतलब है कि इस बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह और पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी केवल एक दिन उपस्थित रहे थे।
ज्ञात हो कि प्रतिवर्ष सितम्बर और जनवरी में दो बार संघ की समन्वय बैठक होती है। डॉ. वैद्य के अनुसार इस बैठक में देश के विभिन्न हिस्सों में विविध क्षेत्रों में कार्यरत संगठन के अधिकारी आपस में कार्य की दृष्टि से विचार विमर्श करते हैं, जिसके अंतर्गत राष्ट्रीय और सामाजिक स्तर पर चल रहे अनेक अभियानों, कार्यक्रमों और योजनाओं की समीक्षा की जाती है। संघ प्रचार प्रमुख ने कहा, “यह समन्वय बैठक संघकार्य की समीक्षा के लिए होता है और बैठक के पश्चात कोई अधिकृत विज्ञप्ति नहीं दी जाती।
डॉ. वैद्य ने कहा कि सरसंघचालक ने आम आदमी पार्टी को लेकर भाजपा को किसी भी प्रकार का निर्देश नहीं दिया।

विश्व संवाद केंद्र
दिल्ली 

1 comment:

  1. Why the media persons do such a kind of dirty work for thier popularity.

    ReplyDelete