Saturday, April 21, 2012

vsk chennai sandesh (Hindi)

सेतु
समाचार भी, संकार भी
----------------------------------------
एप्रिल २०, २०१२
हिन्दूओं के सतर्कता से सफलता
गत सप्ताह पर्वतीय शिव मंदिर नगरी तिरुकलुगुकुन्द्रम के हिन्दू मुन्ननी कार्यकर्ता दीवाली मना रहे थे. यहाँ के पर्वत को वेद का ही मूर्तिमान मानते हैं और जिस का प्रदक्षिण वेदों की पूजा सम है ऐसा मान्यता है. इस तीर्थ क्षेत्र के परिक्रमा रास्ते में आठ नंदी के पतिमा विद्यमान है, जिन में से एक नंदी को अवैध रूप से एक राजनैतिक बाहुबली अपने कब्जे में लेकर उसके चारों ओर दूकान खडा किया. श्रद्धालु दर्शन से वंचित रह गए. ऐसा ही २५ साल बीत गए. लेकिन हिन्दू मुन्ननी शुरू से इसके विरोध में  संगर्ष झारी रखा.अंत में मुख्य मंत्री के नाम एक ज्ञापन वांछित काम कर डाला. अवैध दूकान हटाये गए और भक्त जन बिना बाधा दर्शन करने लगे जिसे हिन्दू मुन्ननी कार्यकर्ताओ ने उत्सव का रूप दे दी.
कचरे से वैज्ञानिक पाठ्य वस्तु
चेन्नई का एक युवक मणी जो 'मास्टर आफ सोशल व्होर्क' स्नातक है, रास्ते में पड़े कचरे से वैज्ञानिक पाठ्य वस्तु बनाते हैं और उनके सहारे पढ़ाते भी. पुराने सीडी को कच्चे दागे से बांधते और गुमाते, सेंत्रिफ्युगल शक्ति के बारे में बताने. पुराने एल ई ड़ी बल्ब तथा काप्पर तार इस्तमाल करके विद्युत् उत्पातक (जनरेटर) का माडल तैयार करते हैं.  पुराने मोबाइल के वैब्रेटर को उपयोग करके छोटी सी पंखा निर्माण करते हैं. ये बताते हैं कि एक डी वि डी उपयोग करके 'विब्जियार' तत्त्व को साबित कर सकता हूँ. बच्चों के बीच व्योम सास्त्र पर रूचि पैदा करने के लिए 'बेस्ट साईंस कंटेंट डेवलपर २००९' का पुरस्कार जीता हैं मणि ने.
ईसाई स्कूल का चीटिंग मायाजाल
थिरुवन्नामलई क्षेत्र जो महरिषी रमण की तपस्या की साक्षी हैं, अभी अभी सुर्ख़ियों में हैं लेकिन गलत कारणों से. यहाँ के माउंट सैंट जोसेफ मेट्रिक उच्च विद्यालय दसवीं कक्षा की बोर्ड प्ररीक्षा का केंद्र हैं.  जब अप्रैल १६ को गणित परीक्षा के समय परीक्षार्थी के हाथ प्रश्न पत्र के स्थान पर जवाब पत्र बाँट रहे थे वही स्कूल के अद्यापक लोग. याने चीटिंग में वह ईसाई संस्था संघटित रूप से मैदान में उतरी हैं.  जिलादीश अंशुल मिश्र मौके पर अचानक उपस्तित हुए, 'रेड' हुई और जिन ७ अध्यापक रंगे हाथ पकडे गए उनको तत्काल निलंबित की गयी. उन जवाबी पत्र के वही स्कूल में  ज़ेरॉक्स प्रतियाँ तैयार की गए.  १००/१०० रिजल्ट के लिए ऐसा शॉर्टकट अपनाई हैं उस मिशनरी संस्था ने. उसी दिन विधान सभा में स्कूली शिक्षा मंत्री सिवपथी ने घोषणा की कि उस विद्यालय पर सक्त कार्रवाई की जाएगी. देखना हैं.

No comments:

Post a Comment